Aaj hum janege ki Jharkhand ki rajdhani kya hai? ya to aisa kehlo ki jharkhand ki rajdhani kaha hai. Saath me hi main aapko Jharkhand ki vishesh veh ghumne ki achi jagah batauga or ye bhi ki jharkhand ki rajddhani itni famous kyu hai.

Capital of Jharkhand in Hindi

“Ranchi” Jharkhand ki capital haiRanchi Jharkhand ke sabse ache ilaako me se ek jagah hai. Iss jagah ko mahanagar bhi kaha jata hai. Ranchi city ko city of jharno ke naam se bhi jana jaata hai kyuki yha pe bhut si nadiya milke jharne banati hai.

Jharkhand Bihar se kab alag hua

Varsh 2000 se pahle ye city Bihar ka part hua karti thi lekin tab vha ki rajdhani Patna hua karti thi lekin jab varsh 2000 me Bihar se alag hokar jharkhand jab alag rajya bana tab Ranchi ko uski Capital gohshit kardya gaya. Andolan ke samay jharkhand sabse pahle khada hota tha.

Ranchi city ki stithi chota Nagpur pathar ke dakshin ilaake me hai. Yeh shehar Jharkhand ke pahado ki sundarta ke saath saath pani ke jharno se milkar bana hua ek khoobsurat shehar hai. Garmi ke mausam me iss city ko Bihar ke saath jharkhand jalwayu ka acha hona ka kaaran mana jaata hai.

Jharkhand ki Rajdhani Ranchi ki Jansankhya

Agar hum baat kare to Ranchi ek 652.02 kilometer faila hua shehar hai jisme 291.75 varnmil log rahte hai. 651 metre uchaayi par hai ye shehar pani se . 2011 me hui jansankhya ganna ke madhyam se iss shehar ki jan sankhya 14 lakh 56 hajar 528 hai. Iss shehar me 100 percent ke hisaab se 51.3 percent aadmi evam 48.7 percent females yha rahti hai.

Note: Ranchi shehar ko P.m Modi dwara laaye gaye smart city plan me bhi shaamil kiya gaya hai jiske antargat iss shehar ko baaki 100 sheharo ki tarah smart bana diya jayega aane waale kuch samay me.

Click here : Aaj kaun sa de hai

Hindi Users Ke liye

आज हम जाने की झारखंड की राजधानी क्या है? हां तो ऐसा कहे की झारखंड की राजधानी कहा है। साथ में ही मैं आपको झारखंड के विशेष वाहन घुमने की अच्छी जगह बताउगा या ये भी की झारखंड की राजधानी इतनी फेमस क्यू है।

झारखंड की राजधानी हिंदी में

“रांची” झारखंड की राजधानी है रांची झारखंड के सबसे अच्छे इलाको में से एक जग है। इस जग को महानगर भी कहा जाता है। रांची सिटी को सिटी ऑफ झरनो के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि यह पे भूत सी नदिया मिल्के झरने बनती है।

झारखंड बिहार से कब अलग हुआ

वर्षा 2000 से पहले ये शहर बिहार का हिस्सा हुआ करता था लेकिन तब वह की राजधानी पटना हुआ करता था लेकिन जब वर्ष 2000 में बिहार से अलग होकर झारखंड जब अलग राज्य बना टैब रांची को उसकी राजधानी गोहशत कार्ड्या गया। आंदोलन के समय झारखंड सबसे पहले खड़ा होता था।

रांची शहर की स्थिति छोटा नागपुर पत्थर के दक्षिण में मैं है। ये शहर झारखंड के पहाड़ों की सुंदरता के साथ साथ पानी के झरनो से मिल्कर बना हुआ एक खूबसूरत शहर है। गरमी के मौसम में इस शहर को बिहार के साथ झारखंड जलवायु का अच्छा होना का करना माना जाता है।

झारखंड की राजधानी रांची की जनसंख्या (Jharkhand ki rajdhani)

अगर हम बात करे से रांची एक 652.02 किलोमीटर फेल हुआ हुआ शहर है जिसमे 291.75 वर्णमिल लोग रहते हैं। 651 मीटर ऊंची पर है ये शहर पानी से। 2011 में हुई जनसंख्या गन्ना के मध्यम से इस शहर की जन सांख्य 14 लाख 56 हजार 528 है। इस शहर में 100 फीसदी के हिसाब से 51.3 फीसदी आदमी एवम 48.7 फीसदी महिलाएं यह रहती हैं।

नोट: रांची शहर को पीएम मोदी द्वारा लाया गया स्मार्ट सिटी प्लान में भी शमिल किया गया है जिसके बीच इस शहर को बाकी 100 शहरो की तरह स्मार्ट बना दिया जाएगा आने वाले कुछ समय में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here